झारखंड के विकास में संदेह नहीं : वेंकैया

0
1141

रांची (संवाददाता) : दुनिया भारत की ओर और भारत झारखंड की ओर देख रहा है। अब आरपीटी अर्थात रिफार्म (सुधार), परफॉर्म (प्रदर्शन) और ट्रांसफॉर्म (परिवर्तन) का दौर आ गया है। इस दौर में झारखंड बीमारू प्रदेश से विकास की ओर अग्रसर प्रदेश बन चुका है। झारखंड खूबसूरत है, यहां के लोग परिश्रमी हैं। यहां के मुख्यमंत्री लक्ष्य के प्रति समर्पित हैं और देश के प्रधानमंत्री भविष्य द्रष्टा हैं, ऐसे में झारखंड के विकास में संदेह की गुंजाइश कहां बचती है। ये उद्गार केन्द्रीय शहरी विकास मंत्री वेंकैया नायडू ने मोमेंटम झारखंड प्रथम वैश्विक निवेशक सम्मलेन को संबोधित करते हुए व्यक्त किये।
श्री नायडू ने कहा कि मेक इन इंडिया की सफलता में झारखंड की भूमिका अहम होगी क्योंकि झारखंड अपनी सुगम नीतियों और संसाधनों के साथ बदलाव की ओर अग्रसर है। आज जब दुनिया भर की अर्थव्यवस्था पस्त है, भारत की अर्थव्यवस्था लगातार बेहतर हो रही है और निश्चय ही यह झारखंड जैसे राज्यों की तरक्की के कारण ही संभव हो पा रहा है।
उन्होंने कहा कि झारखंड की आबादी का बड़ा हिस्सा युवा है, जो विकास चाहता है, शांति की कामना करता है इनकी उम्मीदों पर पानी फेरने की कोशिश में लगी राजनेताओं की एक जमात आदिवासियों और गैर आदिवासियों के बीच वैमनस्य पैदा करने की कोशिश कर रही है। ऐसा कर रहे लोग इस बात की परवाह नहीं कर रहे कि आदिवासियों को भी बेहतर जीवन और रहन-सहन की जरुरत है और यह सब राज्य के औद्योगिक-व्यापारिक विकास, रोजगार के अवसरों में वृद्धि के वगैर संभव नहीं है। मुख्यमंत्री रघुवर दास झारखंड की सवा तीन करोड़ जनता के बेहतर भविष्य के लिए निवेश आमंत्रित कर रहे हैं और इसका सबसे ज्यादा लाभ जनजातीय समुदाय को ही मिलेगा।

LEAVE A REPLY