टेक्सटाइल क्षेत्र में भी उड़ान भरेगा झारखंड : स्मृति

0
699

रांची (संवाददाता) : केन्द्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति ईरानी ने इस अवसर पर कहा कि राज्य में कई नयी कपड़ा इकाइयां लगेगी। उन्होंने कहा कि झारखंड की आत्मा हस्तकरघा क्षेत्र में बसती है। उन्होंने कहा कि बुनकारों को प्रोत्साहित करने के लिये नयी लूम की खरीदारी पर 90 प्रतिशत राशि बुनकरों को वापस दे दी जायेगी। उन्होंने कहा कि झारखंड में बनने वाला तसर सिल्क अमेरिका, इंग्लैंड, तुर्की,जापान, स्वीडन तथा जर्मनी में निर्यात किया जाता है और इसका वाय प्रोडक्ट मुर्गी पालन, मछली पालन, कास्मेटिक तथा सौंदर्य प्रसाधन के क्षेत्र में किया जाता है। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार ने नयी टेक्सटाइल नीति के तहत कई छूट दी, विशेषकर महिलाओं को कई छूट दी गयी। उन्होंने कहा कि देवघर में मेगा  टेक्सटाइल पार्क की स्थापना की जा रही है, वहीं केंद्र सरकार बुनकर संवर्द्धन समृद्धि योजना के तहत नए लूम की स्थापना करेगी और रोजगार का अवसर उपलब्ध कराएगी।
केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने कहा कि झारखंड सिल्क के उत्पादन में अग्रणी है, सिल्क कपड़े का निर्यात, अमेरिका, इंग्लैंड, जापान, कनाडा समेत कई देशों में होता है। उन्होंने कहा कि झारखंड उड़ान भर रहा है, आने वाले क्षेत्र में झारखंड टेक्सटाइल के क्षेत्र में भी नयी उड़ान भरेगा और यह क्षेत्र झारखंड के विकास और लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने में सहायक सिद्ध होगा।

LEAVE A REPLY