पायलट प्रोजेक्ट के तहत देवघर में जल्द शुरू होगा काम

0
472

रांची। केंद्रीय दूरसंचार प्राधिकरण के अध्यक्ष डॉ. आरएस शर्मा ने बताया कि झारखंड के देवघर शहर में दूरसंचार कंपनियों के लिए कॉमन डक की स्थापना की जाएगी, जिसके दूरंसचार कंपनियों के फाइबर केबल बिछाने के लिए पाइप लगाया जाएगा, फिर बाद में सेवाएं प्रदान करने वाली दूरसंचार कंपनियों को फाइबर केबल बिछाने की अनुमति दी जाएगी और इसके लिए निर्घारित राशि ली जाएगी, इससे यह फायदा होगा कि बार-बार विभिन्न कंपनियों की ओर से केबल बिछाने के लिए सड़क की खुदाई की जरूरत नहीं पड़ेगी और कंपनियों के लागत में भी कमी आएगी। श्री शर्मा मोमेंटम झारखंड के मौके पर आयोजित सेमिनार में हिस्सा लेने के बाद आज रांची में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
ट्राई के अध्यक्ष आरएस शर्मा ने बताया कि देवघर में कॉमन डक बिछाने का काम पायलट प्रोजेक्ट के तहत शुरू की जा रही है और इसकी सफलता के बाद देश भर में लागू करने की अनुशंसा की जाएगी। उन्होंने देवघर में इस पायलट प्रोजेक्ट को शुरू किये जाने की योजना के संबंध में बताया कि मुख्यमंत्री से बातचीत के आधार पर यह फैसला लिया गया।
कॉल ड्राप की समस्या के संबंध में पूछें गये एक प्रश्न के उत्तर में उन्होंने बताया कि ट्राई के फैसले को दिल्ली उच्च न्यायालय ने सही ठहराया, बाद में उच्चतम न्यायालय में दूरसंचार कंपनियों की ओर से फैसले को चुनौती दी गयी, जिसके बाद अदालत द्वारा इस पर रोक लगा दी गयी, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि ट्राई अपनी जिम्मेवारियों से पीछे हटेगा। उन्होंने बताया कि कॉल ड्राप को लेकर दिशा-निर्देश कड़े किये जा रहे है। उन्होंने बताया कि नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में भी टावर लगाये जा रहे है, इसके तहत झारखंड के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में 720 टॉवर लगाये गये है।
मोबाइल कनेक्शन देने में पहचान पत्र को लेकर उच्चतम न्यायालय द्वारा दिये गये आदेश के संबंध में पूछे गये एक प्रश्न के उत्तर में श्री शर्मा ने बताया कि ट्राई की ओर से पहले ही इसकी अनुशंसा की गयी थी कि आधार पहचान पत्र आधारित मोबाइल कनेक्शन उपलब्ध कराए जाए, जिससे पेपरलेस व्यवस्था कायम हो।

LEAVE A REPLY