मोमेंटम झारखंड के बाद 5लाख रोजगार का सृजन होगा-रूढ़ी

0
451

40लाख युवाओं को दिया गया प्रशिक्षण,28लाख का प्लेसमेंट
रांची। केंद्रीय कौशल विकास राज्यमंत्री राजीव प्रताप रूढ़ी ने कहा है कि मोमेंटम झारखंड के बाद राज्य में पांच लाख रोजगार के अवसर सृजित होंगे। उन्होंने बताया कि निवेशकों के इस सम्मेलन में दुनिया भर से प्रतिनिधि आये है और झारखंड में निवेश का महौल बना है। वैश्विक निवेशक सम्मेलन में हिस्सा लेने आये श्री रूढ़ी आज रांची में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।
राजधानी रांची के खेलगांव में सम्मेलन के दूसरे दिन कौशल विकास को लेकर आयोजित सेमिनार में हिस्सा लेने के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि इस सम्मेलन के माध्यम से देश-विदेश के 209 प्रतिनिधियों की ओर से 3.75लाख करोड़ रुपये के निवेश का प्रस्ताव मिला है। उन्होंने बताया कि मोमेंटम झारखंड के बाद झारखंड की औद्योगिक पहचान और अधिक सुदृढ़ होगी। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मेक इन इंडिया की दिशा में कदम बढ़ाया, तो झारखंड सरकार ने मेक इन झारखंड की तरफ कदम बढ़ाया है। उन्होंने कहा कि श्रम एवं कौशल विकास विभाग के साथ मिलकर केंद्र सरकार झारखंड में कौशल का जाल बिछाने का काम करेगा। उन्होंने कहा कि झारखंड के युवा बड़ी संख्या में आधारभूत संरचना और घरेलू कामगार के रूप में काम करने के लिए पलायन करते है, लेकिन अप्रशिक्षित रहने के कारण उन्हें अपेक्षित आय नहीं मिल पाता है। उन्होंने बताया कि कौशल विकास मंत्रालय ने राष्ट्रीय स्तर पर पासपोर्ट के साथ युवाओं को प्रशिक्षित करने की योजना बनायी है और युवाओं को प्रशिक्षण देने के बाद कानून की जानकारी देकर विदेश भेजा जाएगा और उन्हें विदेशी भाषा की भी जानकारी दी जाएगी। इसके लिए विदेश मंत्रालय ने भी अपनी पूरी तैयारी कर ली और प्री- डिपार्चर कोर्स की रूपरेखा तैयार कर ली गयी है।
श्री रूढ़ी ने बताया कि झारखंड सरकार ने कौशल प्रशिक्षण के लिए जगह उपलब्ध कराने का भरोसा दिलाया है, राज्य सरकार द्वारा उपलब्ध करायी गयी 23 एकड़ जमीन पर इंडिया इंटरनेशनल स्कील सेंटर की स्थापना की जाएगी, यह सेंटर लखनउ, कानपुर व चेन्नई की तर्ज पर काम करेगा। इसके लिए दो-तीन महीने में प्रक्रिया पूरी कर ली जाएगी ।उन्होंने बताया कि झारखंड में ड्राइवर ट्रेनिंग स्कूल का शिलान्यास आगामी 2-3अप्रैल को राष्ट्रपति के दौरे के क्रम में कराने की योजना पर काम चल रहा है। इसके अलावा कौशल विकास मंत्रालय की ओर से झारखंड के वैसे सभी प्रखंडों में मल्टी स्कूल ट्रेनिंग इंस्टीट्यूट की स्थापना की जाएगी,जहां अभी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान,आईटीआई कार्यरत नहीं है।
केंद्रीय राज्यमंत्री ने बताया कि उनके मंत्रालय की ओर से अब तक 40लाख युवाओं का कौशल विकास किया गया है और इनमें से 28लाख युवाओं का प्लेसमेंट हो चुका है, अगले तीन वषार्ें मंे एक करोड़ युवाओं के कौशल विकास का लक्ष्य है।

LEAVE A REPLY