Send gifts to your near and dear ones
Home » Education Express » 8 September 2012 »

आईटी की दुनिया में कदम

भारत में बेहतर कम्प्यूटर प्रोफेशनल्स की कमी को पूरा करने के लिए भारत सरकार द्वारा डिपार्टमेंट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एक्रिडिएशन फॉर कम्प्यूटर कोर्सेज (डीओईएसीसी) की स्थापना की गई है। इस सोसायटी ने कम्प्यूटर एजुकेशन से संबंधित वर्ल्ड लेवॅल का अपडेटेड कोर्स उपलब्ध कराने में अपनी खास पहचान बनाई है। महत्वपूर्ण बात यह भी है कि ये कोर्स प्राय: देश के हर कोने में उपलब्ध हैं। डोएक की शाखाएं देश के ज्यादातर शहरों में तो हैं ही, इससे बड़ी संख्या में इससे संबंधित केंद्र भी इसके कोर्स संचालित करते हैं।
डीओईएसीसी क्या है?
डीओईएसीसी अर्थात डिपार्टमेंट ऑफ इलेक्ट्रॉनिक्स एक्रिडिएशन फॉर कम्प्यूटर कोर्सेज (इंडिया), सूचना मंत्रालय (भारत सरकार) के डिपार्टमेंट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी की एक ऑटोनॉमस बॉडी है। इसका मुख्यालय दिल्ली में है। पूरे देश में डीओईएसीसी के खुद अपने दस सेंटर्स हैं, जो औरंगाबाद, एजल, कालीकट, चंडीगढ, गोरखपुर, तेजपुर/ गुवाहाटी, इम्फाल, कोलकाता, जम्मू/श्रीनगर तथा कोहिमा में हैं। इसके अलावा, यह सोसायटी देश भर में लगभग साढे आठ सौ स्वीकृत इंस्टीटयूट्स के अपने राष्ट्रीय नेटवर्क द्वारा आईटी/कम्प्यूटर की शिक्षा पर आधारित करीब बारह सौ कोर्स मुहैया कराती है।
डीओईएसीसी द्वारा संचालित कोर्स
डीओईएसीसी द्वारा संचालित कोर्सो को चार लेवॅल में बांटा गया है। किसी भी कोर्स में सोसायटी से मान्यता प्राप्त इंस्टीटयूट में प्रवेश या डायरेक्ट एडमिशन के लिए अलग-अलग शैक्षिक योग्यता निर्धारित की गई है। कोर्सो का लेवॅल इस प्रकार है :
ओ लेवॅल
यह फाउंडेशन कोर्स है, जिसमें छात्रों को चार पेपर्स की पढाई करनी होती है। फाउंडेशन कोर्स में पर्सनल कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर, आईटी, बिजनेस सिस्टम्स एेंड प्रोग्रामिंग तथा सी व कोबोल आदि के बारे में पढाया और बताया जाता है। इसके अलावा, छात्रों को प्रोजेक्ट वर्क भी करने होते हैं। इस कोर्स की अवधि एक वर्ष है। योग्यता : ओ लेवॅल के कोर्स में बारहवीं के बाद एडमिशन लिया जा सकता है। दसवीं के बाद आईटीआई से एक वर्ष का सर्टिफिकेट कोर्स कर चुके स्टूडेंट भी इसमें प्रवेश ले सकते हैं। इसके अलावा किसी मान्यता प्राप्त इंस्टीटयूशन (कोचिंग में नहीं) में एक वर्ष तक टीचिंग (जॉब नहीं) का अनुभव होना आवश्यक है। इसके अलावा, डायरेक्ट आवेदन करने के लिए डीजीई एंड टी (भारत सरकार) द्वारा ली जाने वाली एनसीवीटी-डीपी एंड सीएस परीक्षा में उत्तीर्ण छात्र भी इस लेवॅल में प्रवेश पाने के योग्य हैं। वहीं, डीओईएसीसी से मान्यता प्राप्त इंस्टीटयूट में उपरोक्त योग्यता वाले अभ्यर्थी तो प्रवेश ले ही सकते हैं। साथ ही, दसवीं के बाद सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त पॉलिटेक्निक से दो वर्ष की पढ़ाई पूरा कर चुके स्टूडेंट भी इसमें प्रवेश ले सकते हैं। हालांकि, ऐसे स्टूडेंट्स को इंजीनियरिंग डिप्लोमा पूरा करने के बाद ही ओ लेवॅल का सर्टिफिकेट प्रदान किया जाएगा।
ए लेवॅल
यह कोर्स एडवांस डिप्लोमा इन कम्प्यूटर ऐप्लिकेशन के समकक्ष होता है। इस कोर्स में प्रवेश लेने वाले छात्रों को दस पेपर क्लियर करने होते हैं। इस कोर्स की कुल अवधि दो वर्ष होती है। योग्यता : इस कोर्स में दाखिला के लिए ओ लेवॅल कोर्स/मान्यता प्राप्त संस्थान से पॉलिटेक्निक इंजीनियरिंग डिप्लोमा/ग्रेजुएशन के साथ एक वर्ष का टीचिंग अनुभव होना आवश्यक है।
बी लेवॅल
एआईसीटीई के अनुसार इस डिग्री को मास्टर ऑफ कम्प्यूटर ऐप्लिकेशन (एमसीए) के समकक्ष माना जाता है। वे छात्र, जो सीधे बी लेवॅल कोर्स में एडमिशन लेते हैं, उन्हें 25 पेपर पढ़ने होंगे। जबकि, ए लेवॅल कोर्स पूरा कर बी लेवॅल में दाखिला लेने वाले छात्रों को 15 पेपर ही क्लियर करने होंगे। इस कोर्स की अवधि तीन वर्ष है। योग्यता : बी लेवॅल कोर्स में एडमिशन के लिए ए लेवॅल कोर्स/सरकारी मान्यता प्राप्त संस्थान से पीजीडीसीए/पीपीडीसीए के अलावा दो साल का अनुभव होना जरूरी है। ग्रेजुएट/पॉलिटेक्निक इंजीनियरिंग डिप्लोमा करने वाले छात्र तीन वर्ष के टीचिंग अनुभव के बाद इसमें प्रवेश ले सकते हैं।
सी लेवॅल
यह कोर्स एमटेक डिग्री के समकक्ष होता है। इसमें छात्रों को 16 पेपर पढ़ने होते हैं। इस कोर्स की अवधि डेढ़ वर्ष होती है। योग्यता : सी लेवॅल कोर्स में एडमिशन के लिए बी लेवॅल कोर्स/बी टेक/बीई/एमसीए/एमएससी/ऑपरेशंस रिसर्च/ बीएससी और एमबीए के साथ डेढ़ साल का अनुभव होना चाहिए।
अन्य कोर्स
सीसीसी सर्टिफिकेट कोर्स : डीओईएसीसी विभिन्न लेवॅल के कोर्स के अलावा सामान्य लोगों को बेसिक कम्प्यूटर की जानकारी देने के इरादे से कम्प्यूटर कॉन्सेप्ट कोर्स (सीसीसी) भी कराती है। इस कोर्स की अवधि 80 घंटों की होती है। इसका मुख्य उद्देश्य सामान्य लोगों को बिजनेस संचालित करने के लिए कम्प्यूटर की बेसिक जानकारी, इंटरनेट का उपयोग, कम्प्यूटर अकाउंट की जांच आदि की जानकारी देना है। इन कोर्सो के अलावा, डीओईएसीसी में बायो-इंफॉर्मेटिक्स, आईटी इनेबल्ड सर्विसेज (बीपीओ), कम्प्यूटर हार्डवेयर कोर्स, आईटी स्किल्स फॉर नर्सेज, कॉर्पारेट ट्रेनिंग प्रोग्राम जैसे कोर्स भी उपलब्ध हैं।
जॉब संभावनाएं
ओ लेवॅल का कोर्स करने के बाद आप असिस्टेंट प्रोग्रामर, ईडीपी असिस्टेंट, वेब डिजाइनर तथा लैब डेमोस्ट्रेटर की नौकरी हासिल कर सकते हैं। ए लेवॅल का कोर्स करने के बाद प्रोग्रामर, वेब एडमिनिस्ट्रेटर, ट्रेनिंग फैकल्टी, वेब कंटेंट डेवलॅपर, ट्रबल शूटर आदि जॉब कर सकते हैं। बी लेवॅल कोर्स करने के बाद सिस्टम एनालिस्ट, डाटाबेस एडमिनिस्ट्रेटर, सॉफ्टवेयर इंजीनियर, सीनियर फैकल्टी, नेटवर्क सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर बन सकते हैं। इसके अलावा, सी लेवॅल को पूरा करने के बाद प्रोजेक्ट मैनेजर, आईटी कंसल्टेंट, आर एेंड डी साइंटिस्ट, सिस्टम स्पेशलिस्ट के रूप में करियर बना सकते हैं। डीओईएसीसी से कोर्स कर आप जिन संस्थानों में जॉब हासिल कर सकते हैं, उनमें प्रमुख हैं : रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड, शिपिंग कॉर्पोरेशन ऑफ इंडिया, गवर्नमेंट मिनिस्ट्रीज, बैंकिंग सर्विसेज, एनएचपीसी, ओएनजीसी, आईडीबीआई, एचएएल, यूपीएससी, वीएसएनएल, सीआरआईएस आदि।
परीक्षा व सर्टिफिकेट
डीओईएसीसी द्वारा संचालित कोर्सों की परीक्षाएं प्रत्येक वर्ष जनवरी और जुलाई में आयोजित की जाती है। डीओईएसीसी के तहत मान्यता प्राप्त इंस्टीटयूशन में पंजीकृत छात्रों की परीक्षाएं सोसायटी ही आयोजित करती है और सर्टिफिकेट भी डीओईएसीसी ही देती है।
विदेशों में डीओईएसीसी
सोसायटी ने अपने कोर्स श्रीलंका और नेपाल में भी शुरू किए हैं। इसके अलावा, सेंट्रल एकेडेमी ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (सीएआईटी), मिनिस्ट्री ऑफ इंटरनेशनल ट्रेड एेंड इंडस्ट्री, जापान के साथ हुए समझौते के अनुसार डीओईएसीसी ए, बी और सी लेवॅल पास करने वाले छात्र जापान सरकार द्वारा वीजा पाने के लिए योग्य होंगे।

कैसे करें आवेदन?
डीओईएसीसी के किसी भी कोर्स में दाखिला लेने के लिए रजिस्ट्रेशन फॉर्म इसकी वेबसाइट से डाउनलोड कर सकते हैं या फिर इसके ऑफिस से पोस्ट द्वारा या खुद जाकर बिना किसी शुल्क के प्राप्त कर सकते हैं। रजिस्ट्रेशन फॉर्म जमा करते समय कोर्स की फीस भी जमा करनी होगी। जिस कोर्स में आपको प्रवेश लेना हो, उसकी योग्यता की जांच अपने स्तर पर भी अवश्य कर लें।
अधिक जानकारी और ऑनलाइन आवेदन के लिए आप www.doeacc.ac.in तथा www.doeacc.edu.in

jharkhandjobs.com calling all employers