• नक्सल नीति की समीक्षा कब?
    नक्सल नीति की समीक्षा कब?शशिधर खानछत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सली हमले में सीआरपीएपफ के 26 जवानों के शहीद होने की बात आयी गयी हो गयी। शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना व...
  • चैम्पियन ट्राफी भंवर में
    चैम्पियन ट्राफी भंवर मेंसंपादकीयनये प्रस्तावित राजस्व मॉडल के मुद्दे पर अन्तराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद् के साथ भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड की लम्बे समय से चल रही खींचतान के कार...
  • मानवता का हनन करते नक्सलवादी
    मानवता का हनन करते नक्सलवादीनीरज भारद्वाजआतंकवादी तथा नक्सलियों द्वारा हमले सरकार का सिर दर्द बने हुए हैं। विकास के मौजूदा दौर में राष्ट्र के वैज्ञानिक नयी-नयी मशीनए प्रयोग और दव...
  • चिंता बढ़ाने वाली घटना
    चिंता बढ़ाने वाली घटनासंपादकीयछत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में चिंतागुफा के पास सोमवार को सीआरपीएफ जवानों को घेर कर उन पर जिस तरह से ग्रेनेड लांचर दागे गये एवं गोलियों की ...
  • कैसे बनाएं हिन्दी को लोकप्रिय?
    कैसे बनाएं हिन्दी को लोकप्रिय?डॉ. गौरीशंकर राजहंसराष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने अधिकारिक भाषाओं को लेकर बनी समिति की उस सिफारिश को स्वीकार कर लिया है जिसमें कहा गया है कि अगर रा...
  • इतिहास बन गयी लालबत्ती
    इतिहास बन गयी लालबत्तीपूनम आई कौशिकराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री से लेकर छोटे-मोटे नेताओं, बाबुओं और इंस्पेक्टरों तक गाड़ियों पर लालबत्ती और सायरन की प्रथा को समाप्त करते हुए ...
  • हादसे से सबक सीखने की जरूरत
    हादसे से सबक सीखने की जरूरतसंपादकीय.रविवार को एक बस हादसे ने खूबसूरत पतरातू घाटी के हरितिमा भरे सौन्दर्य को बदरंग बना दिया। एक बारात पार्टी को ले जा रही यह बस घाटी से गुजरने के ...
  • जहरीले वाहन और पर्यावरण का दर्द
    जहरीले वाहन और पर्यावरण का दर्दआशीष वशिष्ठसुप्रीम कोर्ट के जस्टिस एम.बी. लोकुर और दीपक गुप्ता की बेंच ने एक फैसले में कहा था कि पूरे भारत में एक अप्रैल, 2017 से बीएस-3 तकनीक पर आधार...
  • विकास मॉडल, राज्य और विरोधाभास
    विकास मॉडल, राज्य और विरोधाभासनरेंद्र देवांगनसंघीय लोकतंत्र में केंंद्र व राज्य सरकारों में करों व अन्य स्रोतों से प्राप्त आय का वितरण अहम मुद्दा होता है। भारत में क्षेत्रीय आर्थिक...
  • तो गड़बड़ियां आखिर कहां हैं!
    तो गड़बड़ियां आखिर कहां हैं!संपादकीयझारखंड में आदिवासियों के विकास के लिए ढेर सारी योजनाएं चला रही हैं लेकिन जमीनी हकीहत यह है कि गांवों में रहने वाले लोगों के जीवन स्तर में उस अ...
  • सीबीएसई के कदम सराहनीय
    सीबीएसई के कदम सराहनीयभरत मिश्र प्राचीदेश में संचालित समस्त विद्यालयों की परीक्षा समाप्त होते ही नये सत्र के दौर के साथ ही पाठ्य पुस्तकें, ड्रेस एवं फीस को लेकर अभिभावक वर्...
  • अद्वितीय थीं किशोरी अमोणकर
    अद्वितीय थीं किशोरी अमोणकरराजकुमार कुम्भजजयपुर अतरौली घराने की गायकी के मर्म और ममत्व की खूबियों-बारीकियों को गहराई से सीखने-समझने में पारंगत होने के बाद इसे अपनी गायन-शैली में...
Share it